Friday, November 5, 2010

जीवन में नित मंगल हो



कान्हा मुख मुस्कान लबालब
करून लालिमा लाया पूरब
सम रस दृष्टि, प्रेम लुटाये
वो अपना तो जग अपना सब

-----------------------------
जीवन में नित मंगल हो
घर घर आनंद स्थल हो
साँसों में शाश्वत गाये 
प्रेमयुक्त मन शीतल हो

दीप पर्व पर मंगल कामनाएं  

अशोक व्यास
न्यूयार्क, अमेरिका


3 comments:

Suman said...

ज्योति पर्व के अवसर पर आप सभी को लोकसंघर्ष परिवार की तरफ हार्दिक शुभकामनाएं।

वन्दना said...

दीप पर्व की हार्दिक शुभकामनायें।

Udan Tashtari said...

सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

-समीर लाल 'समीर'