Monday, November 1, 2010

श्याम नाम गुण गाय

श्याम नाम का आसरा
ओर ना दूजी बात 
चहुँ दिसा अपनी लगे
लिए श्याम को साथ 

कृष्ण भजे मन रात-दिन
रस अनुपम नित पाय 
पावन हो जिव्हा सदा
श्याम नाम गुण गाय

अशोक व्यास
न्यूयार्क, अमेरिका
६ जुलाई २०१० रचित
१ नवम्बर २०१० को लोकार्पित

1 comment:

mahendra verma said...

सुंदर भजन ...जै श्री कृष्ण।